इतिहासकार भक्ति परम्परा को किन-किन वर्गों में बाँटते हैं?
Historians divided the Bhakti tradition into which​

Question

इतिहासकार भक्ति परम्परा को किन-किन वर्गों में बाँटते हैं?
Historians divided the Bhakti tradition into which​

Amanda 1 year 2021-08-18T19:05:27+00:00 0

Answers ( )

    0
    2021-08-18T19:06:54+00:00

    Explanation:

    दूसरे स्तर पर, धर्म के इतिहासकार भक्ति परंपरा को दो मुख्य वर्गों में बाँटते हैं : सगुण (विशेषण सहित) और निर्गुण (विशेषण विहीन)। प्रथम वर्ग में शिव, विष्णु तथा उनके अवतार व देवियों की आराधना आती है, जिनकी मूर्त रूप में अवधारणा हुई। निर्गुण भक्ति परंपरा में अमूर्त, निराकार ईश्वर की उपासना की जाती थी।

    0
    2021-08-18T19:07:14+00:00

    Answer:

    Historians divided the Bhakti tradition into which

    Explanation:

    Historians of religion often classify Bhakti traditions into Saguna and Nirguna: (i) Saguna Bhakti includes traditions which focused on the worship of specific deities like Shiva, Vishnu and his incarnations and forms of the goddess or Devi. (ii) Nirguna Bhakti stresses on the worship of an abstract form of God.

Leave an answer

Browse

12:4+4*3-6:3 = ? ( )